रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड

रूरल इलेक्ट्रीफिकेशन कारपोरेशन लिमिटेड
भारत सरकार का उद्यम
26जून2017
 
 
 
 

विद्युत उत्पादन-नवीकरणीय ऊर्जा

जलवायु परिवर्तन के साथ साथ ऊर्जा के क्षेत्र में सुरक्षा एवं स्वनिर्भरता अति महत्त्वपूर्ण मुद्दों में से एक है । आज नवीकरणीय ऊर्जा संसाधनों से विद्युत उत्पादन पूरे विश्व में लगातार महत्त्वपूर्ण होता जा रहा है क्योंकि हम ग्रीनहाउस गैसों को कम करने और जलवायु परिवर्तन के मुद्दों के समाधान के लिए प्रयत्नशील हैं। भारत अनिश्चितकाल तक पैट्रोल आधारित ऊर्जा स्रोतों पर निर्भर नहीं रह सकता है। इसलिए सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, बायोमास, पन-बिजली आदि जैसी नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं की लगातार मांग बढ़ रही है ताकि बिजली की बढ़ती हुई आवश्यकता को पूरा किया जा सके।

नवीकरणीय ऊर्जा के उत्पादन की काफी संभावना है। सरकार उपलब्ध नवीकरणीय ऊर्जा संसाधनों का हर प्रकार से उपयोग करना चाहती है जो वास्तव में अब नवीकरणीय ऊर्जा पर सरकार का ध्यान लगातार बढ़ने के कारण हकीकत में बदल रहा है।

वर्ष 2002 से 2011 के दौरान देश में नवीकरणीय ऊर्जा की संस्थापित क्षमता 3 प्रतिशत से 11 प्रतिशत हो गई है। आगामी दशक में भारत नवीकरणीय ऊर्जा की क्षमता को 70 गीगावॉट तक करना चाहता है, जो कि कुल क्षमता का लगभग 20 प्रतिशत होगा।

भारत सरकार द्वारा नवीकरणीय ऊर्जा संसाधनों के विकास के संबंध में हाल ही में जो प्रयास किए गए हैं, वे इस प्रकार हैं:

नवीकरणीय ऊर्जा खरीद के अनिवार्य दायित्व

संशोधित टैरिफ दिशानिर्देश

विद्युत उत्पादन आधारित प्रोत्साहन

नवीकरणीय ऊर्जा प्रमाणपत्र (आरईसी) को लागू करना

सौर मिशन

उपयुव्त पहलों से नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन में सुधार करने में सहायता मिली है।

आरईसी नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों पर आधारित सभी प्रकार की विद्युत उत्पादन परियोजनाओं का वित्तपोषण करता है अर्थात सौर पीवी, सौर थर्मल, पवन ऊर्जा, बायोमास कोजनरेशन, लघु हाइड्रो आदि।

आरईसी के उधारकर्ताओं में राज्य विद्युत क्षेत्रक यूटिलिटी/राज्य विद्युत बोर्ड, केंद्रीय क्षेत्रक संयुव्त क्षेत्रक और प्राइवेट क्षेत्रक यूटिलिटियां शामिल हैं।

आरईसी प्रमुख वित्त व्यवस्थापकों वाले या बिना व्यवस्थापकों वाले संघों(कंसोर्टियम) में अग्रणी ऋणदाता या सह-ऋणदाता के रूप में ऋण मंजूर करता है।

नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाएं : स्वीकृति का विवरण

नवीकरणीय विद्युत उत्पादन परियोजनाओं का विवरण : विचाराधीन

उधारकर्ताओं के लिए दिशानिर्देश

वित्तपोषण संबंधी मापदंड

ऋण आवेदनपत्र फार्म