रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड

रूरल इलेक्ट्रीफिकेशन कारपोरेशन लिमिटेड
भारत सरकार का उद्यम
26जून2017
 
 
 
 
 
 
 
 

संगठनात्मक गठन

सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम आरईसी को कंपनी अधिनियम 1956 के तहत 25 जुलाई,1969 को स्थापित किया गया था। 31.3.16 की स्थिति के अनुसार आरईसी 28,618 करोड़ रू. के निवल मूल्य वाला भारत सरकार का एक सूचीबद्ध सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम है। इसका निगम कार्यालय नई दिल्ली में स्थित है तथा कार्मिकों के पूरी संख्या के साथ देश के विभिन्न राज्यों में 18 परियोजना कार्यालय स्थित हैं, इसके अलावा दो उप-कार्यालय तथा हैदराबाद में सेंट्रल इंस्टीटयूट फॉर रुरल इलेक्ट्रीफिकेशन नामक एक प्रशिक्षण संस्थान है। मानव संसाधन विकास पर ध्यान देते हुए निगम विभिन्न प्रसिद्ध संस्थाओं एवं विदेशी संगठनों द्वारा आयोजित होने वाले विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रमों के लिए अपने कार्यपालकों एवं गैर-कार्यपालकों को प्रायोजित करता रहा है। 31.07.2016 की स्थिति के अनुसार निगम में अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, दो निदेशक तथा मुख्य सर्तकता अधिकारी के अलावा इस समय 587 कार्मिक (विभिन्न विभागों जैसे कि इंजीनियरिंग, वित्त, आर्थिकी तथा विशेषीकृत संवर्ग के 458 कार्यपालक एवं 129 गैर-कार्यपालक) हैं।

कार्मिकों का वेतन तुलनात्मक रुप से बेहतर है तथा इन्हें अनेक विशिष्ट लाभ एवं परिलब्धियां भी प्रदान की जाती हैं। आरईसी ने अपने कार्य-निष्पादन में पिछले कई वर्षो से (उत्कृष्ट) रेटिंग हासिल किया है। कार्य-निष्पादन के क्षेत्र में देश के सार्वजनिक क्षेत्र के सर्वोच्च 10 उद्यमों में से एक होने के कारण निगम को हाल ही में भारत के माननीय उप राष्ट्रपति द्वारा पुरस्कार प्रदान किया गया है।

नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके देखें:

a संगठनात्मक संरचना
a प्रबंधक के स्तर से ऊपर के अधिकारियों के संपर्क विवरण